BAS CHAAR PAL JYAADA JEENE KEE AARAJOO THEE, Dard Shayari in Hindi,

  sad dayri   zindagi  sad shayari,

sad shayari in hindi for love,sad shayari in hindi for girlfriend,  सैड शायरी.

.जिसे तुम.सच्चे दिल.से.प्यार करो उसे .कभी मत आज़माना.

.क्यों की.अगर वह.गुनहगार भी.हुआ तो.

दिल सोचता है कि कोई तो आए .और चुपके से आकर चौका कर दूर कर दे इस. अकेलेपन को फिर दिल करता है .कुछ वक्त अकेले बिताने के इंसान जब भी अकेला होता है वह खुद .के साथ होता है sad shayari,

akelapan ek aisi bimaari hai jo na jine deti hai na marne deti

dil sochata hai ki koi to aaye aur chupke se aakar chauka kar dur kar de
is akelepan ko phir dil karata hai kuchh vakt akele bitaane ke insaan jab bhi akela hota hai
vah khud ke saath hota hai sad shayari,

पता है इंसान .अकेले रहने. से क्यों .डरता है क्योंकि जब वह .अकेला होता है. उसे खुद का सामना. करना .पड़ता है♥ sad shayari,

जो. वह .कभी दुनिया. को जो. भी भीड़ में. होता है. तू अपना .असली .चेहरा .भूल जाता है जब वह अकेला होता है तो .उसका असली .चेहरा उसके सामने होता है♥ .sad shayari,

और .उसकी. हुई हर गलती .हर गुनाह. याद दिला .कर उसे डरा रहता है तो निया में दुनिया में सबसे ज्यादा .खुद से. डरता है. और यही एक .वजह है कि. इंसान दुनिया .में अकेले तो आता है पर. जीने के .लिए एक साथी की .तलाश में रहता है ऐसा साथी तू हमेशा उसका♥ sad shayari,

.निभाए

sad shayari in english,sad shayari image,

sad shayari for boys,sad shayari 2020, sad shayari,

पानी .में तैरना. सिख लीजिए मेरे दोस्तों, आंखों में .डूबने का अंजाम बुरा होता है।.

ना चाहत .के अंदाज़ अलग, ना दिल के जज़्बात अलग,थी सारी. बात .लकीरों की, तेरे हाथ अलग, मेरे हाथ अलग। sad shayari,

दिल .के .दर्द को .दिल में ही दबा के .रखा है दिल के दर्द को दिल में ही दबा के रखा है आघर बयां .कर .देते तो सजा पाओगे♥ sad shayari,

dil ke dard ko dil mein hi daba ke rakha hai

Aaghar bayan kar dete to saja paoge sad shayari,

जरा .सोच. समझ कर रखना .इश्क अच्छे-अच्छे को .यहां .बेवफा पाओगे

Jara soch samajh kar rakhna.

ishk achchhe-achchhe ko yahan beWafha Pao Ge sad shayari,

कभी मिले.फुर्सत ♥तो इतना.जरूर बताना 

वो कौन सी.मोहब्बत थी जो♥ हम तुम्हे.न दे सके♥.

.पतझड़ लो.भी तू फुर्शत से देखा कर ऐ दिल

.हर गिरता पत्ता.भी तेरी ही.तरह टुटा हुआ है ।

sad shayers sad sariye,sad sharyi.com

sad shaire.com,sad shirey

sadness shayari,sadshayari
sad shayar,sad shayaris

.लिखना.था कि.खुश है तेरे बगैर भी.यहाँ हम

.मगर.कमबख्त.आँसू है.कि कलम से.पहले.ही.चल दिये

.कितना.प्यार.करते हैं.हम उनसे, sad good shayari

.काश उनको.भी यह.एहसास हो.जाए,

.मगर ऐसा न.हो के होश में.तब आये, जब.हम गहरी

sad shayari

..तेरी आरज़ू.मेरा ख्वाब है, .जिसका रास्ता.बहुत.खराब है,

मेरे ज़ख्म का.अंदाज़ा न लगा,दिल.का हर पन्ना.दर्द की.किताब है।.

..इस दौरे..सियासत..का..इतना सा..फ़साना है

..बस्ती..भी..जलानी है..मातम..भी..मनाना..है।

..रात आ .कर .गुज़र भी जाती है

..इक हमारी .सहर नहीं .होती

sad shayari

.लिखूं कुछ.आज यह.वक़्त का.तकाजा है,

.मेरे दिल .का.दर्द अभी ताजा-ताजा है,

.गिर पड़ते हैं मेरे.आंसू मेरे ही कागज पर,

.लगता है.कि कलम में.स्याही.का दर्द ज्यादा है।

.उनसे की हुई एक.दो मुलाकातें.

.हम भूल पाएंगे .ना उम्र भर,.जब दिल.को दर्द होगा

.लबों पे खुद व खुद आ.जायेगा उनका जिकर


बस चार पल ज्यादा जीने की आरजू थी,
पर इन इंसानों को 5G की ज्यादा जुस्तजू थी।



वो मुहोब्बत हैं जनाब
लाख मोडलो मुँह तुम।
अगले पल उसकी आगोश में होंगे,
फिर चाहें कई लगालो पहरे तुम।



अपने जज्बातोंके कातिल तुम खुद ही रहोगे,
जब तुम किसी पत्थर दिल से दिल्लगी करते रहोगे।



वक़्त बेवक़्त हमारी चौखट पर चले आते हो,
जालिम फिर भी हमहिसे बेरूखी, कमाल ही करते हो।


सुना हैं तौर तरीकोंके पक्के हो,
सच बताना कही किसीसे मुहोब्बत तो नही कर बैठे हो।


वो मुहोब्बत अलग ही परवान चढ़ती हैं,
जिसमें जुदाई का मौसम लम्बा ठहरा हो।



ऐब अगर क़बा में हो तो शायद धूल जाए,
नियत में पड़ी ऐब को भला कोई क्याही मिटा पाए।


तुम जो यूँ मुहोब्बत बरसाते हो ना मुझ पर,
बस इसीने आदते बिगाड़ रखी है मेरी।



किसी की औकात ना ही दिखाया करो तो बेहतर हैं,
उस कलके आये छोटेसे वायरस ने देखो पुरी दुनिया के नाक में दम कर रखा हैं।



रंजीशे बताओ किस रिश्ते में नही होती,
साजिशें होने लगी तो सोचो रिश्ते का वजूद ही मिट गया ।



हां माना कि हम बेवकूफ हैं करली मुहोब्बत,
तुम तो समझदार थे ना फिर क्यों कि मुहोब्बत?



जमाने का क्या हैं,
हर मशहूर इंसान के पीछे पागल हैं।
पर हमारा क्या हैं,
हम सिर्फ अपने आप मे ही मशगूल हैं।



हजारो चीखे, लाखो जख्म
एक वक्त के आड़ छुपे हैं,
तुमने फिर दिए हैं घाव कई,
इस बार वक़्त तुम्हे छुपाने पर तुला हैं।




बहुत ही समझदार हैं लोग इस दुनिया मे,
खुद को ना समझ आये कुछ तो दुनिया ही 
ना-समझ हैं इनकी नजर में।




माना कि अभी वक़्त खराब हैं,
कई अपने अपनोंसे बिछड़ रहे हैं,
कई लोग भूखे मर रहे हैं,
पर यकीन मानो,
ये वक़्त भी गुजर जाएगा,
नई सुनहरी सुबह जल्द ही होगी,
पर हमें कई नियम अपने अंदर उतारने हैं
खुद के लिए ना सही अपनोंके लिए हमें हर नियम का पालन करना हैं,
तभी हम एक स्वस्थ और खुश जहाँ देख पाएँगे।




काफी मशक्कत के बाद मैंने दिल को संभाला था,
और उनकी फ़क़त एक मुस्कान मेरा दिल फतेह कर गई।




तुम भूल ही गए हो तो अब शिकायत कैसी,
मुस्कुराती तो हूँ मैं, पर जो महसूस हो रही हैं वो कैफियत कैसी



गुलशन की खूबसूरती के आगे,
उसके बागबान को भूल जाते हैं लोग,
अफवाहों के भंवर में फस कर,
असलियत टटोलना भूल जाते हैं लोग।




खूबसूरत वो नही उसका हर अंदाज हैं,
मासूम सी उसकी मुस्कान ही मेरे बेचैन दिल का राज हैं।



तुम्हारा बात बात पर गुस्सा करना लाजमी हैं,
आखिर दिलाताही गुस्सा तुम्हे जानबूझकर हूँ, तुम्हारा बारंबार खूबसूरत दिखना आजमी हैं।





शक के एक छोटेसे अंगारे ने देखो कैसा मंजर बना डाला,
लगा कर आग अपनी सोच को देखो अपनी चिता का बंदोबस्त कर डाला।




Leave a Comment