TWO LINE SHAYARI IN HINDI ON LIFE | TOP 20 HINDI SHAYARI

 आँखों में ठहरो चाहे दिल में उतर जाओ,..

दोनो घर तुम्हारे हैं तुम चाहे जिधर जाओ!

——————————————–

बड़ी नादान मोहब्बत💞ह हमारी 💑 निभा लेना!
कभी तुम गुस्सा😡हए तो हम झुक जाएंगे!
कभी हम नाराज हुए तो तुम सीने💗स लगा लेना॥

————————————————

वो आएगी नहीं पर फिर भी मैं इंतज़ार करता हूँ,
एक तरफ़ा ही सही पर मैं सच्चा प्यार करता हूँ॥

——————————————

जहां कदर मिली,, वहां दिल गया …
फिर लोग कहते हैं,, इंसान बदल गया !!!

———————————————–

ये तसल्ली तो दे दी उसने,,, के मामूली नहीं हैं हम ….
अब ये कैसे पता चले के कितने कीमती हैं हम !!!

———————————————–

तुम्हे महफिल पसंद है और हमें तन्हाई,
बताओ भला हमारा मेल कैसे होगा…

————————————————–

दिल का वो कोना यादों से कभी भरता नहीं,
कमबख्त इश्क है जिस्म से पहले मरता नहीं ।

—————————————————

सुनना नही चाहता मैं किस्से तेरी मजबूरियों के,
में खुद मजबूर हूँ, मुझे अब मोहब्बत नही करनी!

————————————————–

कुछ नहीं बचा कहने को, हर बात हो गई ,,
आओ कहीं शराब पीएं, के रात हो गई !!!

—————————————————

इस शहर में भी चांद तन्हा है बशर …
तारों को फ़ौज शामियाने सी है सजी !!!

————————————————-

माना हम अदब से बात नही करते पर
ये मानो मतलब से बात नही करते,
ये नरम लहजा ,प्यारी बातें तेरे लिए है,
यकीन मानो हम हर किसीसे ऐसे बात नही करते।

————————————————–

बिखरा वजूद, टूटे ख़्वाब, सुलगती तन्हाईयाँ,💔
कितने हसीन तोहफे दे जाती है ये मोहब्बत।💖

—————————————————-

वो आँखों ही आँखों में करती है ऐसे बातें,
के कानों कान किसी को खबर नही होती!!

——————————————————

बहुत घटिया थे न हम……तो फ़िर और बताओ आज
कल तो फरिश्तों के साथ.. उठते बैठते होंगे तुम…..

——————————————————

वो जो चाय पीने पे डांटते थे…उसे कहना बात अब
🚬सिगरेट🚬 तक पहुंच गई है…..

—————————————————-

हर दिन के तूफानों से यूँ ख़ुद को बचा लेता हूँ,
जज़्बात दबा लेता हूँ हाँ में हाँ मिला देता हूँ..

—————————————————-

घड़ी भर ही सही लेकिन बहुत आराम देता है..
कोई झोंका हवा का जब तेरा पैग़ाम देता है…!!!

—————————————————–

अब तुझसे शिकायत करना मेरे हक मे नहीं,
क्योंकि तू आरजू मेरी थी पर अमानत शायद किसी और की।

——————————————————-

“अपनी मोहब्बत कि खुशबु से नुर कर दे,
❤️
जुदा न हो सकु इतना मगरुर कर दे,
😘
मेरे दिल मे बस जाए वफ़ा तेरी,
😘❤️😘
किसी और को ना देखु मुझे इतना मजबुर कर दे।”

—————————————————–

सरसरी तौर पर मत ले हमको …
हम ज़रा फ़िक्र, ज़रा गौर के हैं !!!




क्या इजहार करना ही प्यार है
इंतजार करना प्यार नही💝

क्या किसी को पा लेना ही प्यार है
उसको सिर्फ चाहना प्यार नही💕😘

अगर उसके सारे ख्वाइसो को पूरा करना प्यार है❣️
तो उसके खुशियों के लिए दुआएं करना ओ क्या🥰

 

 

—————————————————–

लिख दूंगा इतने अल्फ़ाज़ तुझसे बिछड़ने के बाद
इन पन्नों पर मै की लिखी जाएंगी उनसे किताबें तेरे मेरे इश्क़ की ✨

 

 

                                                दिल पर तेरी हुकूमत, और रूह पर तेरा कब्जा है..!!
                                      अब कैसे लगेगा ये दिल कहीं, जब हर सांस पर तेरा ही जज्बा है..!!🥰



तन्हाइयों के आगोश में डूबी रहूं तो तुम मेरी शामों में ढल जाना, 

स्वपन सतायें मुझे अगर तो सुबह बनकर तुम मेरी खिड़की पे आ जाना, 

बिखरी बिखरी सी दिख जाऊं किसी मोड़ पर तुम्हें तो  पास आकर तुम मेरे कोष्ठक बन जाना, 

   विचलित रहु और पलकें बन्द न कर पाऊं रात तलक तो   बनकर  महताब मेरी पलकों में घुल जाना, 

जो कभी भाग्य की रेखाओ को कोसती रहूं.. मिलकर मुझे तुम मेरी किस्मत बन जाना, 

रचनाएँ  उतरें मेरे मन के गाओं में तेरे लिए  जब.. गोधउली  बेला बन तुम उन्हें पढ़ जाना,

कभी लगे मुझे  की भूलने लगे  हो तुम  मुझे तो मेरे हिचकियों की उम्मीद में शामिल हो जाना 

अधूरी सी पंक्तियों सी होऊं किसी घड़ी मैं पूरा करने के  लिए  तुम मेरे  पूर्ण विराम बन जाना, 

मुकम्मल देखना चाहती हूँ ख्वाब तेरे संग मैं अपने… क़िस्मत बीच में  आये अगर तो हमेशा की तरह एक कलम लें आना… 

मेरे करीब बैठकर… तुम मुझे अपने नाम लिख जाना ❤️

तुम मुझे अपने नाम लिख जाना 



कोई तुम से सीखे,

मौजूद रहना मुझ में।




तेरी बातों में गोते लगाए,ये शायर

तेरी आँखों को मोती बताए,ये शायर

तेरा हँसना ग़ज़ल में मिलाए,ये शायर

तेरे रोने पे तुझको हँसाए,ये शायर

तेरी बातों में उर्दू मिलाए,ये शायर

तेरे चेहरे पे हिंदी सजाए,ये शायर

तेरे दिल को शब्दों से छू जाए,ये शायर

तेरी पलकों पे नज़्में रख जाए,ये शायर

तू ना हो,अधूरा हो जाए,ये शायर

तेरे होने से पूरा हो जाए,ये शायर

ये शायर😌




हम मर्दों को 

तुम्हारे झुमके तक से प्यार है, 

लड़कियों तुम्हें ये जिस्म की गलतफहमी मिटानी होगी।




दूर रहकर करीब आना

नज़ाकत है हमारी…..


याद बनकर आँखों में बसना

शरारत है हमारी…..


करीब ना होते हुए भी

करीब पाओगे…

क्यूँकि…..

एहसास बनकर 

दिल में रहना 

आदत है हमारी…..

Leave a Comment