Kaun Kahata Hai Mujhase “Vapha” Keejie.. Life Shayari


 

कौन कहता है मुझसे “वफा” कीजिए…

आइए दिल लगाइए और तबाह कीजिए..!!


उम्र चाहे कोई भी हो 

लेकिन जिंदगी  रोज कोई न कोई सबक जरूर सिखाती है।।


तमाम ज़ुबानें बे-ज़ुबान लगती हैं,

जब इश्क़ आंखों से समझाया जाता है ।


दिल करता है पलट जाऊँ आसमान की तरफ…

 ज़मीन वालों का मिज़ाज नहीं मिलता मुझसे…


लड़खड़ाते ह पैर । इस जमाने की हकीकत देखकर ।। टूटे ह दिल पर होठो पे मुस्कान बाकी ह। यही देखकर जिंदगी से उम्मीदे बाकी है।।।।।


जिंदगी में समस्या तो, 

हर दिन नई खड़ी है, 

जीत जाते है वो जिनकी, 

सोच कुछ बड़ी है आओ, 

आज मुश्किलों को हराते हैं चलो,  

आज दिन भर मुस्कुराते हैं..!! 

शुभ प्रभात.


उसे बयाँ करूँगा ज़ायके में,

लिखूंगा की वो चरस जैसी थी।


हमनें संभालें सारे दर्द तेरे,

और तुमसे एक हम ना संभालें गए .


किसी से दिल लगाये भी तो क्या,

यहाँ किसी के पास दिल भी है क्या……


भूल जाने में उसे थोड़ी कसर रखते हैं, 

चुपके चुपके ही सही उसपे नज़र रखते हैं 

Leave a Comment