Lautaane To Aaya Tha Vo Mera Chaandanuma Jhumaka


 लौटाने तो आया था वो मेरा चांदनुमा झुमका..

 नथ की चांदनी देखकर आसमानी हो गया..



पलट कर पन्ने जिन्दगी के

तुमको तलाश लेते हैं…!!


हकीकत में ना सही 

ख्वाबों में ही छू लेते हैं…!!!



अपनी तकदीर में तो कुछ ऐसे ही सिलसिले लिखे हैं,

किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया,

तो किसी ने अपना बनाकर ‘वक़्त’ गुजार लिया!



अभी तो दिल में हल्की-सी कसक मालूम होती है,

बहुत मुमकिन है कल इसका मुहब्बत नाम हो जाये।





अरे वो बाप तुम्हे जिंदगी सौप रहा है,
और तुम कहते हो,तुम्हे दहेज़ चाहिए..!!



आपकी कुछ बातें मुझे बेचैन करती हैं…

आपकी बेचैन करती बातों से भी मुझे इश्क़ है..



मैं रेत के ज़र्रे ज़र्रे से कतरा कतरा भी चुन सकती हूँ..

जब कभी टूट के बिखरो खुद को खोने लगो तो बताना मुझको..




तुम कारवां_ए_इश्क तो लाओ दिल_ए_अंजुमन में…


मैं ख़याबा_ए_बंदगी बिछा दूंगी सज़दे में  तेरे…




सुबह से लड़ते लड़ते शाम हो गई 
और टॉपिक है कि
 “तुम मुझसे बात नहीं करते “





एक अलग सा एहसास है तुझ मे,
वरना इश्क़ के लिए तो लाखों तैयार है..!!



तुम ने देखें होंगे हजारों ख्वाब,

मैंने तो बस तुम्हें देखा है …



यूँ तो एक आवाज दूँ और बुला लूँ तुम्हें मगर,
कोशिश ये है कि खामोशी को भी आजमा लूँ जरा।


वो चाहता तो खरीद सकता था हमें,

उसे कहो जेब में “दिल” रख कर चले….!!



जहां पे कोई कहीं का नहीं रह जाता,

उस “पड़ाव” पर छोड़ा गया हूं !!



ना जाने मोहब्बत में कितने 
अफ़साने बन जाते हैं,
शमां जिसको भी जलाती है 
वो परवाने बन जाते हैं,
 
कुछ हासिल करना ही 
इश्क कि मंजिल नहीं होती,
किसी को खोकर भी 
कुछ लोग दिवाने बन जाते हैं..!!



उसे मेरे सिवा,सारा जहाँ दिखता है,
और मुझे…

उसी में सारा जहाँ दिखता है..!!




तड़प उठोगे आप भी मेरी तड़प देख कर,

बेहतर है कि आप मेरे हालातों से अंजान ही रहो !!




💗जहाँ खोने का डर ना रहे💗
💗खो जाने का मन करे💗
💞💞वही इश्क है💞💞



उसकी हरकते बता रही है,
वो छोड़ने की तैयारी में है…




मेरी बातों में ,मेरी यादों में,,,
हिसाब करके देखो बेहिसाब हो तुम।।




ना जाने कितने मौसम आ के चले गए,

पर एक अरसे से असर उस शख़्स का है..




वो मिलता तो है,पर गले नहीं लगाता…
रखना फासला कोई दस्तूर हो जैसे ..!!




तुम मेरा वो खूबसूरत अहसास हो…!!
जिसके लिए अल्फ़ाज़ नहीं होते…!!!



इसी कशमकश का नाम मोहब्बत है,
बाहों में समुंदर हो फिर भी प्यास रहती है।।




यूं ही नही चाहते हम तुम्हे,साहिब

मेरा एक हिस्सा है जो तुझमे बसता है……




मैं जिस तरह से रखता हूँ तेरा ख्याल,
उस तरह से तोह तुझे मेरा होना चाहिए था,
हम मिलें अकेले में और गले भी न मिलें…इस बात का तोह मलाल होना चाहिए था।।




किसी के पास रहना हो तो,
थोड़ा दूर रहना चाहिए।।



खूबसूरत सा एक पल किस्सा बन जाता है,
जाने कब कौन जिंदगी का हिस्सा बन जाता है,
कुछ लोग ऐसे भी मिलते हैं जिंदगी में,
जिनसे कभी न टूटने वाला रिश्ता बन जाता है।




अब नहीं करेंगें किसी के भी दावों पे यक़ीन।
इक तुम्हारे जाने से हमको तज़ुर्बा खूब हुआ।




मुझे साँवले रंग से मोहब्बत करने का गुमां है,
इस जमाने में गोरे रंग वाले फरेबी बहुत है…..!




फ़ासलों की वजहें ख़त्म हो जाती है,
फिर भी,फ़ासले बाक़ी रह जाते हैं ।



Leave a Comment