कुछ हदें हैं तुम्हारी और कुछ मेरी life quotes shayari

 

कुछ हदें हैं तुम्हारी और कुछ मेरी,
लेकिन इन दायरों में भी इश्क़ है.!!
कितना मुश्किल है इस,
अन्दाज में ज़िन्दगी बसर करना…!! 
तुम्ही से फासला रखना और तुम्ही से इश्क़ करना…!!
दिल में बसता नहीं कोई दूसरा…!! 
कुछ यूं जादू है तेरे इश्क़ का…!!!!
बाज़ार के रंगों से मुझे रंगने की ज़रूरत नही,
आपकी याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है…
उसको आदत थी मेरी,इसलिए ख़त्म हो गई..
हमें मुहब्बत है उनसे,इसलिए बरक़रार है…!!
रोज रोज मेरे खयालो  में बसते हो तुम,
Rose Day मुबारक हो तुमको ,
Rose सी महक मेरी जिंदगी में लाये हो तुम।
इश्क़ जब हुआ तो मोहब्बत से बताया सबको,
जुदा हुए तो जुदाई का सबब छुपा रहा हूं में..!
जब भीड़ साथ थी …
तब भी तुम पास थे …
जब तन्हा हूं …
तब भी तुम ही खास हो !!!
❣️❣️❣️❣️❣️❣️
मेरा प्यार, मेरे हमसफ़र
मेरे हमराज़, मेरे हमदर्द 
       ❤️ मरे शिव ❤️ माही

Leave a Comment